Human Rights Violations – Victims of Asaram Bapu from Newspapers & TV clippings & Real court documents www.SlaveCult.com

November 3, 2008

आसाराम बापू के बाल संस्कार केन्द्र का भांडा फोड़

भाई पाक से भारत आ कर आसाराम ने क्या खूब कितना पैसे कमाया
क्या दौलट क्या हीरे क्या मोती दुनिया को लूट पाट कर बेवकूफ़ बनाया
दुनियाभर में बदनामी हो गयी इसकी, पर पाखंडी की आदत ना छूटी
डूब मरता अपमानित हो कर अगर लज्जा होती, और भेज देता बचो को घर जिनकी है किस्मत फूटी
आसाराम का बच्चो को फसाने का नया षडयंत्र केंद्र
अंधविश्वासी अंधे लोगो को खोल दिए है बाल संस्कार केन्द्र
जो खुद आसाराम के अंधवाश्वास में फँसे हैं वो इसके बाल संस्कार केन्द्र चलाएँगे
जो सारी ज़िंदगी खुद एक ढोंगी के च्कर में फसे रहे वो बचो को असारमायण पड़ौएँगे
रामायण तो गयी अब तेल लेने, असारमायण ने अपनी ही असारमायण बनाई है
हिंदू धरम के ठेकेदारो ने वोटो के चकर में असाराम्यन पर भी मोहर लगाई है
जब आश्रम बंधक के मा बाप के मरने का संदेशा आता है असाराम एक नई प्रॉपर्टी क हिसेदर बनता देख फूला नहीं समाता है
फटाफट अपनी एक बड़ी फोटो और गुरु दीक्षा की किताबे उनके घर भिजवाता है
कोई प्रॉपर्टी को दान में अड़चन ना डाले इसके लिए हर आश्रम बंदी से एक कोरे काग़ज़ पर दस्तख़त करवाता है
आसाराम बापू के बाल संस्कार केन्द्र का भांडा फोड़
होनहार बचो को बोलता है आश्रम में क़ाम कर मा बाप को छोड़
कितनो के बचे आश्रम में मरे नहीं है कोई लेखा झोका
हिंदू समाज अभी भी सो रहा था असाराम को आग में नहीं था झोंका
धीरे धीरे हिंदू समाज जाग रहा है असाराम की फोटो और पोस्टर फाड़ रहा है
सरकारी कर्मचारी जो था लाचार , लगा रखी थी उसने अपने ऑफीस में फोटो असाराम की , पर अब लगा दी है उसने भी सीता और राम की
अनपड़ और गँवार लोग अब भी कर रहे हैं असाराम का प्रचार
शक्ति प्रदर्शन कर आम आदमी पर ज़बरदस्ती ढा आहे है अत्याचार
अरे तुमको आसाराम और अपने घर वालों का करना है व्यभिचार
तो तुम चले जाओ आसाराम के आश्रम की काल कोठरी में और भेज दो उन मा बाप के बचो को जिनके मा बाप है लाचार और मीडीया में लगाई है गुहार
बचो को अपने अनुकूल करने और अपनी फोटो पूजवने का ही नाम बाल संस्कार है
आश्रम में बचो की हत्या पर बोलता है माता पिता और जनता कोर्ट का फ़ैसला आने तक करे इंतेज़ार
ताकि तब त्क और बचो को फँसा कर अपने धंधे को बड़ा सके, पर अपनी उमीदो पर पानी फिरते देख हो गया है बेकरार
पोलीस की इंक्वाइरी वाले सस्पेक्ट्स को वॅकिल देता है और करता है तकरार, नारको टेस्ट जानो को करता है इनकार, पर आरोप लगाने वेल सारे हैं नारको के लिए तैयार
बचो को घर क्यूँ नहीं भेजता , आसाराम को मामला ठंडा पड़ने का है इंतेज़ार
बसस के नाम पर क्या क्या

बाल संस्कार केंद्र में क्या यह सिखाते हैं, खुद ही कहते है बचे ही बचो का गला दबाते हैं
नहीं मानते अपराधी आसाराम उनको कोई संस्कार सिखाएगा
पहले तो हज़ारों रुपैया फिस के नाम पर ले रहा है , फिर बड़े होने पर उनको भी भंधुआ मज़दूर बनाएगा
किसी भी बेटे को यह तो सीखा सका की बाप मरता है तो बेटे को कंधा देने शमशान जाना होता है
मा बाप के पालन पोषण का क़र्ज़ बेटे को उनके बुडे होने पर बेटे को उनकी सेवा कर चुकाना होता है
बच गयी लखो लोगो की ज़िंदगी जिन्होंने , जिसने समझ कर आसाराम की खबर देखी
बचो की लाशों पर असाराम की झूठी टिपडीया और मा बाप को सालों से अपने ही बचो से ना मिलने देने की खबर देखी
कौन साजिश रच रहा है ? आसाराम का घिनोना चेहरा तब सामने आया, जब एक रोटी बिलखती मा को 14 साल से अपने बेटे से नहीं मिलवाया
आज भी उसका बेटे को आसाराम ने नोट गिनने के काम मे लगा रखा है, अरे मैं तो भेजता हू वो नहीं जाता, मीडीया में कहता फिरता है
दुनिया बेवकूफ़ नही है जो तेरे च्क्कर में आएगी, जिस दिन तेरी कोर्ट की तारीख पड़ी तेरी उसी दिन वॉट लग जाएगी
अभी तो तू नोट बाँटने के नाटक कर रहा है, तेरे सारे काले धंधे का धन तुझे नहीं बचा पायगा जिस दिन तेरा वॉरेंट पोलीस लाएगी
आसाराम ने आजतक कितने ही माता पिता का सुक्ख चैन छीना, अगर तुम भी आ जाते इसकी चतुराई में तो भूल जाते मारना और जीना
असाराम ने की एक और नये शड्यंतर करने की तेयारी, अपना भांडा फूटन के डर से इसने दिखाई होशियारी
अपनी ही तारीफ लिखवा कर ही अपनी ही अख़बार छपवा कर भले लोगो को गुमराह करने की कोशिश की जारी,
अत्याचारी और घमंडी आसाराम ने अपने अश्रमो से सताए परिवारों को बदनाम करने की कोशिश की
मीडीया ने भी सचाई दिखा कर , कलयुगी असाराम ढोंगी का अत्याचार
इस ने भले लोगो की आत्मा बहुत दिखाई
मुह काला

more coming soon

Leave a Comment »

No comments yet.

RSS feed for comments on this post. TrackBack URI

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: